विदेश

Iran : मेट्रो ट्रेन में हिजाब पहनने को लेकर दो महिलाओं के बीच मारपीट, एक ने दूसरी महिला को ट्रेन से बाहर धकेला

Harpreet । DHNN
11 Dec 2022 9:16 AM GMT
Iran : मेट्रो ट्रेन में हिजाब पहनने को लेकर दो महिलाओं के बीच मारपीट, एक ने दूसरी महिला को ट्रेन से बाहर धकेला
x
ईरान में एक मेट्रो ट्रेन में एक महिला को दूसरी महिला को हिजाब नहीं पहनने पर धमकाना काफी भारी पड़ गया. एक तीसरी महिला ने बीच में आकर उसे धक्का देकर ट्रेन से बाहर निकाल दिया.

तेहरान : ईरान में मेट्रो ट्रेन में हिजाब पहनने को लेकर दो महिलाओं के बीच मारपीट होने की एक घटना सामने आई है. एक महिला ने दूसरी महिला को हिजाब नहीं पहनने पर धमकाया. तभी एक और महिला ने आकर धमकी दे रही महिला को ट्रेन से बाहर धकेल दिया.

ईरानी पत्रकार और एक्टिविस्ट मसीह अलीनेजाद (Masih Alinejad) ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करके कहा कि 'इस महिला ने मुझ पर हिजाब पहनने को लेकर जबरदस्ती करने की कोशिश की, लेकिन एक अन्य महिला ने हस्तक्षेप किया और उसे ट्रेन से बाहर धकेल दिया.'

अलीनेजाद ने एक और वीडियो शेयर करके कहा कि 'ये दिखाता है कि कैसे ईरान की महिलाएं हिजाब को जबरन लादने से तंग आ चुकी हैं. इसे लेकर अत्याचार करने वालों को बाहर करने के लिए एकजुट हो जाती हैं.'

मसीह अलीनेजाद ने कहा कि ईरान में यह 21वीं सदी है और यहां तक कि केवल महिलाओं के लिए बने पार्क या स्कूलों में भी अगर महिलाएं हिजाब नहीं पहनती हैं तो उनको परेशान किया जाता है.

पिछले महीने ही तेहरान के एक मेट्रो स्टेशन पर हिजाब नहीं पहनने वाली महिलाओं की वहां की पुलिस ने पिटाई की थी. इसके कारण जब महिला प्रदर्शनकारी उग्र हो गईं तो हालात को काबू में करने के लिए ईरानी सुरक्षा बलों ने गोलियां भी चलाईं.

सोशल मीडिया पर बड़े पैमाने पर इसका वीडियो शेयर किया गया था. वीडियो में कई यात्रियों को भीड़भाड़ वाले प्लेटफॉर्म पर पुलिस के गोली चलाए जाने के बाद गिरते और कुचले जाते देखा गया था.

गौरतलब है कि 22 वर्षीय महसा अमिनी की 16 सितंबर को हिजाब नहीं पहनने के कारण गिरफ्तारी के बाद नैतिकता पुलिस की हिरासत में मौत हो जाने के बाद वहां बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया.

ये प्रदर्शन ईरान की सरकार के खिलाफ अब तक के कुछ सबसे बड़े प्रदर्शनों में से एक माने जा रहे हैं. जनता के बढ़ते दबाव के कारण ईरान के अटॉर्नी जनरल ने बयान दिया था कि नैतिकता पुलिस विभाग को बंद करने का फैसला लिया गया है.

Next Story