अगर जीवन में आए-दिन हो रही है परेशानी तो कहीं यह वास्तु दोष तो नहीं है कारण

वास्तु शास्त्र में किसी भवन या भूखंड आदि से जुड़े कई ऐसे संकेत भी बताए गए हैं, जिन्हें देखकर आप उससे जुड़े अशुभ और अशुभ संकेतों की पहचान कर सकते हैं।
अगर जीवन में आए-दिन हो रही है परेशानी तो कहीं यह वास्तु दोष तो नहीं है कारण

वास्तु शास्त्र से जुड़े सभी नियम प्रकृति से जुड़े पांच तत्वों पर आधारित हैं। प्रकृति की तरह वास्तु शास्त्र भी हमारे घर के अंदर होने वाले अशुभयोगों के बारे में संकेत देता है। सुखी जीवन जीने के लिए वास्तु शास्त्र में कई महत्वपूर्ण नियम बताए गए हैं।

जिसे अपनाकर हम घर बनाते हैं तो उसमें हमेशा सुख–समृद्धि बनीरहती है, वही दूसरी ओर जब हम  टिप्स नहीं यूज़ करते है तो उस घर में रहने वाले लोगों को तमाम तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ताहै।

वास्तु शास्त्र में किसी भवन या भूखंड आदि से जुड़े कई ऐसे संकेत भी बताए गए हैं, जिन्हें देखकर आप उससे जुड़े अशुभ और अशुभ संकेतों की पहचान कर सकते हैं।

आइए जानते हैं वास्तु से जुड़े ऐसे ही कुछ अहम नियम :

वास्तु के अनुसार यदि किसी भूमि की खुदाई के समय कोई जीवित सांप निकलता है तो उसे अपशकुन माना जाता है। वास्तु के अनुसार जमीन सेजीवित सांप के निकलने से भवन निर्माण में दुर्घटना की सूचना मिलती है।

ऐसे में उस स्थान पर सर्पदंश के बाद ही भवन निर्माण का कार्य आगेबढ़ाना चाहिए। वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि कोई भूमि खोदते समय वहां अस्थियां या राख निकल आती है तो वहां भी कोई भी कार्य शांत पूजा आदि करके ही करना चाहिए।

वास्तु नियमों के अनुसार अधिक पथरीली भूमि पर बने भवन में रहने वाले लोगों को अक्सर किसी न किसी परेशानी का सामना करना पड़ता है। वास्तु के अनुसार जिस घर में काली चींटियां समूह में घूमती हैं, वहां सुख और ऐश्वर्य में वृद्धि होती है।

अगर इस तरह से लाल चींटियांघूमती हैं, तो किसी भी बड़े नुकसान या परेशानी की पूरी संभावना है। वास्तु के अनुसार यदि किसी भूमि या भवन का क्षेत्रफल वर्गाकार या आयताकार हो तो वह शुभ होता है। वहीं यदि भूखंड टेढ़ा, तिकोना याअसामान्य हो तो घर में रहने वालों को काफी परेशानी होती है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में उत्तर और पूर्व की ओर अधिक खुली जगह होना बहुत शुभ होता है। वास्तु के अनुसार घर के बीच में बड़ा गड्ढा होना या बहुत अधिक वजन होना या अत्यधिक गंदगी होना घर के मुखिया के लिए हानिकारक होता है।

अगर ऐसा होता है तो इन सभी वास्तु दोषों को जल्द ही दूर कर देना चाहिए। वास्तु के अनुसार यदि किसी घर में अचानक से काले चूहों की संख्या बढ़ जाती है तो यह अचानक से विपदा का संकेत है।

Share this story

Around The Web