सरकार के कब्जा न दिए जाने पर पट्टा धारक बैठा भूख हड़ताल पर

सरकार के कब्जा न दिए जाने पर पट्टा धारक बैठा भूख हड़ताल पर


-दो दिन में कार्रवाई ना होने पर किया जाएगा आत्मदाह : कुंवर सिंह

ऋषिकेश, 10 मई (हि.स.)। परिवार नियोजन के दौरान सरकार के आवंटित पट्टे के 28 वर्ष बाद भी सरकार द्वारा भूमि पर कब्जा ना दिए जाने के विरोध में पट्टा धारक ने तहसील परिसर में दो दिन की भूख हड़ताल प्रारंभ कर दी है। इसके दो दिन के बाद पट्टा धारक तहसील में आत्मदाह करेंगे।

मंगलवार को तहसील परिसर में भूख हड़ताल पर बैठे कुंवर सिंह रोथान का कहना था कि उनके साथ 19 लोगों को वर्ष 1994 में नसबंदी कराए जाने के उपरांत राज्य सरकार की ओर से सोमेश्वर मंदिर के निकट 150 गज भूमि का पट्टा राज्य सरकार की ओर से दिया गया था। लेकिन आज तक उन्हें उक्त भूमि पर कब्जा नहीं दिलाया गया है। इसे लेकर वह कई बार धरना ,प्रदर्शन, आमरण अनशन के साथ स्थानीय प्रशासन से लेकर जिला प्रशासन व मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री कार्यालय तक गुहार लगा चुका है। इसके बाद भी उन्हें आज तक जमीन पर कब्जा उपलब्ध नहीं कराया गया है।

भूख हड़ताल कर रहे कुंवर सिंह रोथान के साथ शमशेर बहादुर भी धरने पर बैठे हैं । उनका कहना है कि यदि बुधवार तक उन्हें जमीन पर कब्जा नहीं दिया गया तो वह गुरुवार को तहसील परिसर में आत्मदाह करेंगे। उप जिलाधिकारी डॉ अपूर्व पांडे का कहना है कि धरना दे रहे कुंवर सिंह रोथान का मामला संज्ञान में है जिसके लिए उनके कार्यालय के माध्यम प्रश्नावली शासन को भेजी गई है।

हिन्दुस्थान समाचार/विक्रम

Share this story

Around The Web