खरगोनः पुलिस की कार्रवाई के विरोध में मुस्लिम महिलाओं ने किया जोरदार प्रदर्शन

खरगोनः पुलिस की कार्रवाई के विरोध में मुस्लिम महिलाओं ने किया जोरदार प्रदर्शन


खरगोन, 10 मई (हि.स.)। मध्य प्रदेश के खरगोन जिला मुख्यालय पर स्थानीय पुलिस ने सोमवार देर रात उपद्रव के कुछ आरोपितों की खोजबीन में शहर के मुस्लिम क्षेत्रों में सर्चिंग की। इसके बाद मंगलवार दोपहर बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाएं एकत्रित होकर मोहन टाकीज क्षेत्र पहुंची, जहां पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं मानी और बड़ी संख्या में महिलाएं रैली के रूप में एसपी कार्यालय पहुंची, जहां जोरदार प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की।

दरअसल, खरगोन जिला मुख्यालय पर गत 10 अप्रैल को श्रीराम नवमी पर सांप्रदायिक हिंसा हुई थी। उपद्रव भड़काने वाले आरोपितों को पकड़ने के लिए पुलिस जगह-जगह दबिश दे रही है। सोमवार की रात जब आरोपितों की सर्चिंग के लिए पुलिस कुछ क्षेत्रों में पहुंची तो जमकर विरोध हुआ। अब उन क्षेत्रों की महिलाएं सड़क पर उतर आईं और पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। मंगलवार को सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं सड़क पर उतरकर पुलिस के विरोध में जोरदार नारेबाजी की। महिलाओं के साथ बच्चों ने भी इस विरोध प्रदर्शन में शामिल रहे। दोपहर में बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाएं एकत्रित होकर मोहन टाकीज क्षेत्र पहुंची। यहां पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश की लेकिन प्रदर्शनकारी महिलाओं ने उनकी बात जरा भी नहीं मानी। बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाएं रैली के रूप में पुलिस के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करते हुए एसपी कार्यालय जा पहुंची और जोरदार प्रदर्शन किया।

गौरतलब है कि जिला मुख्यालय पर हुई हिंसा और उपद्रव के मामले में पुलिस ने कुल 72 प्रकरण दर्ज किए हैं, जिनमें 182 आरोपितों की गिरफ्तारी भी की गई है। दो दिन पूर्व ही पुलिस ने खरगोन दंगों के मास्टर माइंड इकबाल, अफजल और कैफ को भी गिरफ्तार कर लिया है। दंगों में इन तीनों की सबसे अहम भूमिका मानी जा रही है। दंगे भड़काने के मामले में पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार किया है उनमें से अधिकांश का क्रिमिनल रिकार्ड है।

शहर में रामनवमी पर निकली शोभायात्रा में पत्थरबाजी की गई थी। साथ ही कई घरों-दुकानों और वाहनों में आग लगा दी गई थी। इस घटना के बाद शहर में दंगे भड़क उठे थे। जिला मुख्यालय पर हुई इस हिंसा और उपद्रव की देशव्यापी चर्चा तब भी हुई, जब पुलिस ने कई आरोपियों के घरों को जेसीबी से जमींदोज कर दिया. जिन 182 आरोपितों की गिरफ्तारी की गई है इनमें से कई ऐसे आरोपित हैं, जिनका नाम तीन या चार आपराधिक प्रकरणों में पहले से ही दर्ज है। पुलिस अन्य आरोपितों को भी खोजने में लगी है।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

Share this story

Around The Web