फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' कश्मीर की सत्य स्थिति: रामदास आठवले

फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' कश्मीर की सत्य स्थिति: रामदास आठवले


मेरठ, 10 मई (हि.स.)। केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास आठवले ने कहा कि फिल्म द कश्मीर फाइल्स कश्मीर की सत्य स्थिति है। वहां कश्मीरी लोगों के साथ अन्याय और अत्याचार हुआ था। आतंकवादी मुसलमानों ने यह अन्याय किया था। सिंगापुर में द कश्मीर फाइल्स को सिंगापुर में प्रतिबंधित करना सही नहीं है।

क्रांति दिवस पर मंगलवार को सुभारती विवि में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने के लिए केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास आठवले पहुंचे। उन्होंने कहा कि आतंकी मुसलमानों ने ही ’कश्मीर हमारा है’ का नारा लगाकर कश्मीरी पंडितों पर अत्याचार किया था और उन्हें वहां से भगाया। सिंगापुर में बहुत भारतीय रहते हैं, इसलिए वहां पर ’द कश्मीर फाइल्स’ को प्रतिबंधित करना सही नहीं है। उन्होंने 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की क्रांतिधरा मेरठ के बारे में कहा कि मेरठ बलिदानियों की धरती है। देश को अब लड़ने की नहीं, बल्कि एकता के क्रांति की जरूरत है। हनुमान चालीसा का पाठ मंदिर में और मंदिर के सामने होना चाहिए। मस्जिद के सामने नहीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबको साथ लेकर आगे बढ़ना चाहते हैं। इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हनुमान चालीसा का विरोध नहीं होना चाहिए। कुछ लोग दंगा कराने की कोशिश करते हैं। उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हुए रामदास आठवले ने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी के पांच साल के शासनकाल में एक भी दंगा नहीं हुआ। आज समाज में बदलाव की जरूरत है। आजादी के अमृत महोत्सव और क्रांति दिवस पर लड़ने की नहीं बल्कि एकता को दिखाने और प्रदर्शित करने की जरूरत है। अंग्रेजों के जाने के बाद अब हमें लड़ना बंद करना होगा। इस अवसर पर डॉ. नीरज कर्ण सिंह, डॉ. मनोज त्रिपाठी, पिंटू मिश्रा आदि उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/कुलदीप

Share this story

Around The Web