लखीमपुर खीरी मामला: किशोरियों को बहला-फुसलाकर खेत ले गए थे आरोपी, छोटू, जुनैद समेत 6 गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखीमपुर में दो बहनों की मौत के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. पुलिस का कहना है कि लड़कियों का अपहरण (Kidnapped) नहीं हुआ था, वे अपनी मर्जी से बाइक पर बैठकर गई थीं. 
लखीमपुर खीरी मामला: किशोरियों को बहला-फुसलाकर खेत ले गए थे आरोपी, छोटू, जुनैद समेत 6 गिरफ्तार

लखीमपुर खीरी । उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखीमपुर में दो बहनों की मौत के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. पुलिस का कहना है कि लड़कियों का अपहरण (Kidnapped) नहीं हुआ था, वे अपनी मर्जी से बाइक पर बैठकर गई थीं.

आरोपी पहले से मृतक लड़कियों को जानते थे. मुख्य आरोपी छोटू ने दोनों लड़कियों की पहचान आरोपी से करवाई थी. हालांकि, वह मौके पर मौजूद नहीं था. आरोपी सोहेल और जुनैद(Sohail and Junaid) ने दोनों लड़कियों के साथ रेप किया. पुलिस ने अब तक 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने बताया कि मुठभेड़ (Encounter) में जुनैद को गोली लगी है.

लखीमपुर एसपी ने बताया कि लड़कियों का अपहरण नहीं हुआ था. दोनों बहनें अपनी मर्जी से गई थीं. छोटी बहन की सोहेल से दोस्ती थी. बड़ी लड़की की दोस्ती जुनैद से थी. दोनों की दोस्ती हाल ही में हुई थी. आरोपी लड़कियों को बहलाफुसला कर ले गए. पुलिस के मुताबिक, पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि सोहेल और जुनैद ने लड़कियों के साथ जबरन संबंध बनाए.

क्या है पूरा मामला, पुलिस ने दी जानकारी

लखीमपुर एसपी मुताबिक, लड़कियों के पड़ोस में एक आरोपी छोटू रहता है. उसने लड़कियों की पहचान आरोपी सोहेल और जुनैद से कराई थी. सोहेल और जुनैद एक अन्य आरोपी के साथ लड़कियों को बहलाफुसला कर बाइक से खेत पर ले गए. लड़कियों का अपहरण नहीं हुआ था. वे अपनी मर्जी से बाइक पर गई थीं.

लेकिन खेत पर सोहेल और जुनैद ने अलग अलग लड़कियों के साथ रेप किया. इसके बाद जब लड़कियों ने शादी की बात की. इन लोगों ने शादी से इनकार कर दिया. इसके बाद सोहेल, जुनैद समेत तीन आरोपियों ने दुपट्टे से गला दबाकर हत्या कर दी. इसके बाद दो अन्य आरोपियों को बुलाया गया और लड़कियों को दूसरी जगह ले जाकर इन्हें खेत से लटका दिया गया है. इन दोनों आरोपियों ने सबूत मिटाने में मदद की है.

6 आरोपी थे शामिल

पुलिस ने बताया कि मामले में कुल 6 आरोपी हैं. आरोपियों में 1 हिंदू और बाकी 5 मुस्लिम हैं. सभी आपस में दोस्त हैं. पुलिस ने अब तक छोटू , जुनैद, सोहेल, हफीजुरहमान, करीमुद्दीन और आरिफ को गिरफ्तार किया है. छोटू लड़कियों का पड़ोसी है. जबकि 5 अन्य आरोपी लालपुर के हैं.

पुलिस ने 3 डॉक्टर का पैनल पोस्टमार्टम करेंगे. वीडियोग्रॉफी कराई जाएगी. इस दौरान पीड़िता के परिवार के लोग शामिल रहेंगे. पुलिस ने बताया कि चश्मदीदों ने बताया है कि लड़कियां अपनी मर्जी से बाइक पर बैठकर गई हैं. अपहरण नहीं हुआ है.

आरोपी बहला-फुसलाकर किशोरियों को ले गए थे खेत

एसपी के मुताबिक, आरोपी लड़कियों को बहला-फुसला खेत में ले गए थे। सभी आरोपी आपस में दोस्त हैं। मुख्य आरोपी छोटे मौके पर मौजूद नहीं था। सुहेल और जुनैद ने पूछताछ में दुष्कर्म की बात कबूल की है। मुख्य साजिशकर्ता गांव के छोटू ने ही किशोरियों से इनकी दोस्ती कराई थी। लेकिन बुधवार को आरोपी बहला फुसलाकर दोनों लड़कियों को खेत में ले गए और वहां दुष्कर्म किया।

पोस्टमार्टम परिवार वालों की मौजूदगी में कराया जा रहा है, जिसकी वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है। कल ऐसी बात सामने आई थी कि पुलिस ने जबरन पोस्टमार्टम कराया, जोकि गलत है। आरिपियों के कपड़े का और उनका डीएनए टेस्ट भी कराया जा रहा है

पेड़ पर लटके मिले थे दोनों बहनों के शव

जिले के निघासन थाना इलाके के एक गांव में बुधवार शाम करीब छह बजे अनुसूचित जाति की दो सगी बहनों के शव पेड़ से लटके मिले थे। मां का कहना है कि शाम करीब पांच बजे उनके सामने ही एक पड़ोसी और तीन अन्य लोग दोनों बेटियों को अगवा कर ले गए थे। घटना से गुस्साए परिजनों ने ग्रामीणों के साथ सदर चौराहे पर जाम लगा दिया।

बाइक पर लड़कियों को जबरन उठा ले गए थे आरोपी

मामले में देर शाम आईजी लक्ष्मी सिंह ने आरोपियों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया, तब जाकर जाम समाप्त हुआ। आशंका जताई जा रही था कि तीन आरोपी दूसरे समुदाय के हैं। मां के मुताबिक दोनों नाबालिग बेटियां घर के बाहर लगी मशीन पर चारा काटने गईं थीं। शाम करीब पांच बजे पड़ोसी गांव के तीन युवक बाइक पर सवार होकर आए और दोनों को जबरन बाइक पर बैठाकर भागने लगे।

मां ने शोर मचाते हुए बाइक सवारों का पीछा किया, लेकिन वे उन्हें धक्का देकर भाग निकले। शोर सुनकर गांव वाले भी इकट्ठा हो गए और आरोपियों की तलाश शुरू की। करीब एक घंटे बाद गांव के ही एक व्यक्ति के खेत में उनका शव खैर के पेड़ से लटका मिला।

उपमुख्यमंत्री ने घटना को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि लखीमपुर की घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। इस दुख की घड़ी में सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है। अपराध करने वाला एक भी अपराधी बच नहीं पाएगा। उनके खिलाफ ऐसी कठोरतम कार्रवाई की जाएगी जो एक मिशाल बनेगी।

नहीं लगाई गई अपहरण की धारा

एफआईआर में घर में घुसकर मारपीट, दुष्कर्म, हत्या और पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया जा रहा है कि मामले में आरोपियों पर अपहरण की धारा नहीं लगाई गई है।

उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक बोले- मामले पर थी सरकार की नजर

लखीमपुर की घटना बहुत ही दुखःद है। सरकार ने मामले को गंभीरता से लिया है। सरकार सीधे नजर बनाए हुए थी। लखीमपुर की घटना का पर्दाफाश हो गया है। आरोपियों ने पहले बच्चियों के साथ दुष्कर्म किया फिर हत्या कर लटका दिया।

Share this story

Around The Web