खुले दरबार में रखी समस्याओं का एक माह बाद भी नहीं हुआ समाधान

खुले दरबार में रखी समस्याओं का एक माह बाद भी नहीं हुआ समाधान


डीसी ने दिया कार्रवाई का आश्वासन

फतेहाबाद, 10 मई (हि.स.)। नगर परिषद में जिला प्रशासन द्वारा लगाए गए खुले दरबार का एक माह पूरा होने पर जिन्दगी संस्था के आह्वान पर विभिन्न संगठनों के सदस्य लघु सचिवालय परिसर में ढोल लेकर पहुंचे। बीते माह लगाए गए खुले दरबार में रखी गई 50 से अधिक समस्याओं पर कोई कार्रवाई न होने पर संस्था पदाधिकारियों ने ढोल बजाकर अपना रोष प्रकट किया।

ढोल का शोर सुनकर जिला अतिरिक्त उपायुक्त अजय चौपड़ा ने अपने कार्यालय में संस्था पदाधिकारियों को बुलाकर बातचीत की, मगर यहां कोई संतोषजनक जवाब न मिलने पर संस्था पदाधिकारी वापस जिला उपायुक्त की गाड़ी का घेराव करके ढोल बजाने लगे। करीब दो घंटे के बाद जिला उपायुक्त प्रदीप कुमार ने अपने कार्यालय में जिंदगी संस्था अध्यक्ष हरदीप सिंह व अन्य संगठन पदाधिकारियों से बातचीत की। उन्होंने बताया कि नगर परिषद के अलावा अन्य संबधित विभागों के अधिकारियों की बैठक बुलाकर उनसे रिपोर्ट ली जाएगी कि उन्होंने खुले दरबार में आई कितनी शिकायतों का निदान करवाया।

गौरतलब है कि जिला प्रशासन ने बीती 28 मार्च से 7 अप्रैल तक नगर परिषद कार्यालय में शहर के विभिन्न वार्डो की समस्याओं का निदान करने के नाम पर खुला दरबार लगाया था। सामाजिक कार्यकर्ता एवं जिन्दगी संस्था अध्यक्ष हरदीप सिंह ने 10 दिन चले इस खुले दरबार में प्रतिदिन शहर की मुख्य समस्याएं समाधान हेतु रखी थी। अधिकारियों ने आश्वस्त किया था कि खुला दरबार खत्म होने के एक सप्ताह के भीतर इन शिकायतों के निदान पर काम शुरू हो जाएगा।

खुला दरबार के एक माह से ज्यादा का समय बीत जाने पर भी जब जन शिकायतों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई तो जिन्दगी संस्था अध्यक्ष हरदीप सिंह अनेक सामाजिक संगठनों के सदस्यों को साथ लेकर लघु सचिवालय पहुंच गए। यहां ढोल प्रदर्शन करके अधिकारियों का जगाने की बात कहते हुए उन्होंने जल्द जन शिकायतों का निवारण करने की मांग की। इस अवसर पर जिला सेवानिवृत पुलिस कर्मचारी एसोसिएशन प्रधान रणधीर डबास, पूर्व बार एसोसिएशन सचिव एडवोकेट प्रशांत शर्मा, अमित मेहता आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/अर्जुन

Share this story

Around The Web