IAS Story: खूबसूरती में बॉलीवुड की हीरोइनों को भी फेल करती हैं ये महिला आईएएस अफसर, जानिए कैसे पास किया एग्जाम

गरिमा ने IPS बनने के 2 साल बाद शादी की. गरिमा के पति इंजीनियर हैं. गरिमा सिंह झारखंड में भी तैनात रहीं. आईएएस के पद पर रहते हुए उनके काम को लोगों ने काफी सराहा.
IAS Story: खूबसूरती में बॉलीवुड की हीरोइनों को भी फेल करती हैं ये महिला आईएएस अफसर, जानिए कैसे पास किया एग्जाम

यूपी के बलिया जिले की रहने वाली गरिमा ने पहली बार 2012 में सिविल सर्विसेज का एग्जाम दिया और वो आईपीएस बन गईं. इसके बाद वो लखनऊ में 2 साल तक अंडर ट्रेनी एएसपी के तौर पर तैनात रहीं. इनकी दूसरी तैनाती झांसी में एसपी सिटी के तौर पर हुई.

ड्यूटी के बीच समय निकालकर उन्होंने आईएएस की तैयारी की. ड्यूटी पर जाने से पहले रोज सुबह एग्जाम प्रिपरेशन करती थीं. यही नहीं, संडे की छुट्टी भी उनकी स्टडीज में बीतती थी. 2015 के यूपीएससी फाइनल में उन्होंने 55वीं रैंक हासिल की थी.

गरिमा ने कहा कि, मेरे पापा ओमकार नाथ सिंह इंजीनियर हैं. वे चाहते थे कि मैं सिविल सर्विसेज में जाऊं. सिर्फ उनके कहने पर मैंने तैयारी शुरू की. गरिमा ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफन कॉलेज से बीए और एमए (हिस्ट्री) की पढ़ाई की है.

गरिमा ने IPS बनने के 2 साल बाद शादी की. गरिमा के पति इंजीनियर हैं. गरिमा सिंह झारखंड में भी तैनात रहीं. आईएएस के पद पर रहते हुए उनके काम को लोगों ने काफी सराहा.

गरिमा ने बताया कि, आईपीएस बनने के बाद से मैंने आईएएस बनने की ठान ली थी. आखिरकार मेरी मेहनत सफल हुई, लेकिन वर्दी छोड़ना मुझे बुरा लगेगा. वर्दी पर मुझे प्राउड है.

एक जॉब में 3 साल तक कोई हो, तो लगाव हो ही जाता है. आईएएस के तौर पर दायरा बढ़ जाता है. लोगों की मदद ज्यादा बेहतर तरीके से कर सकते हैं. पब्लिक से सीधे जुड़ने का मौका मिलता है.

Share this story

Around The Web