IAS Success Story: आईएएस बनने का सफर नहीं था आसान, दो बार प्रीलिम्स में फेल हुई फेल, फैमिली का सपोर्ट पाकर बनीं IAS , जानें IAS महक जैन की सफलता की कहानी

आज हम आपको एक ऐसी ही आईएएस महिला की सफलता की कहानी बताने जा रहे है जिन्होंने 17वां स्थान प्राप्त करके IAS अधिकारी बनने का सपना पूरा कर लिया है।
IAS Success Story: आईएएस बनने का सफर नहीं था आसान, दो बार प्रीलिम्स में फेल हुई फेल, फैमिली का सपोर्ट पाकर बनीं IAS , जानें IAS महक जैन की सफलता की कहानी

IAS Success Story : UPSC की परीक्षा को दुनिया की सबसे टफ परीक्षाओं में से एक माना जाता है। इसे पास करने का सपना तो हर कोई देखता है लेकिन इसे पास केवल चुनिंदा लोग ही कर पाते हैं। क्योकि इसे पास करने के लिए दिन रात मेहनत करनी पड़ती है।

इसके साथ ही लगभग हर विषय का ज्ञान होना भी जरूरी है। अगर कोई यूपीएससी परीक्षा को पास कर लेता है तो आसपास के इलाके में उसके चर्चे शुरू हो जाते हैं। साथ ही बता दें इनमें सफल होने वाले उम्मीदवारों को उनकी रैंक और वरीयता के आधार पर IAS, IPS, IFS आदि पद अलॉट किए जाते हैं।

वहीं इसी बीच आज हम आपको एक ऐसी ही आईएएस महिला की सफलता की कहानी बताने जा रहे है जिन्होंने 17वां स्थान प्राप्त करके IAS अधिकारी बनने का सपना पूरा कर लिया है। बता दें यह आईएएस महक जैन है।

यहां से की स्कूली शिक्षा पूरी

बता दें महक जैन हरियाणा के फरीदाबाद से ताल्लुक रखती है। वहीं महक जैन ने यहीं से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की थी। इसके बाद उन्होंने डीयू के हंसराज कॉलेज से बीकॉम ऑनर्स किया था। डीयू से ग्रेजुएशन के बाद जामिया मिल्लिया इस्लामिया से महक ने पीजी की डिग्री हासिल की थी।

IAS बनने का सफर नहीं था आसान

महक ने बताया, IAS बनने का सफर आसान नहीं था, यूपीएससी में दो बार में प्रारंभिक परीक्षा पास नहीं कर पाई थी, ऐसे में खुद पर शक भी होने लगता था कि मैं इस परीक्षा को पास कर पाऊंगी या नहीं, लेकिन परिवार का सपोर्ट और अपनी मेहनत पर विश्वास शुरू से था।

जिसके बाद तीसरी बार यूपीएससी की परीक्षा दी और IAS अधिकारी बनने में सफल रहीं।

ऑनलाइन लगाई क्लासेज

बता दें, महक जैन ने ग्रेजुएशन के बाद साल 2019 में अपना पहला प्रयास दिया था। जिसके लिए उन्होंने कोचिंग क्लास ज्वाइन की थी। परन्तु कोरोना की वजह से महक की क्लासेज ऑनलाइन हो गई थी। जिसका फायदा महक ने खूब उठाया।

इसे उनको स्टडी करने का अधिक वक्त मिल जाता था। जो परीक्षा मई में होने वाली थी, वह अक्टूबर में हुई, ऐसे में महक को परीक्षा की तैयारी के लिए और अधिक समय मिला। वहीं उनकी तैयारी रंग लाई और UPSC 2021 में 17वीं रैंक से साथ यूपीएससी की परीक्षा पास की।

Share this story

Around The Web