Dehradun : 25 सितंबर को अतिवृष्टि से आई आपदा में पीड़ितों को राहत देने के बजाय घरों में दुबके रहे अफसर

दोपहर मुख्य सचिव से सचिवालय में मुलाकात के दौरान प्रीतम ने विस्तार से उन्हें आपदा की जानकारी दी। कहा कि भारी बारिश की वजह से जौनसार बावर में भारी तबाही हुई है।
Dehradun : 25 सितंबर को अतिवृष्टि से आई आपदा में पीड़ितों को राहत देने के बजाय घरों में दुबके रहे अफसर

देहरादून। जौनसार बावर में 25 सितंबर को अतिवृष्टि से आई आपदा के प्रभावितों को मुआवजे के लिए पूर्व नेता प्रतिपक्ष चकराता विधायक प्रीतम सिंह ने गुरूवार को मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु को ज्ञापन दिया। प्रीतम ने कहा कि आपदा के दौरान जिन अफसरों को क्षेत्र में होना चाहिए था वो अपने घरों में दुबके रहे।

दोपहर मुख्य सचिव से सचिवालय में मुलाकात के दौरान प्रीतम ने विस्तार से उन्हें आपदा की जानकारी दी। कहा कि भारी बारिश की वजह से जौनसार बावर में भारी तबाही हुई है। सरकारी मशीनरी आपदा पीड़ितों की मदद नहीं कर रही है।

प्रीतम ने कहा कि आपदा के बाद 27 को जब वो दौरे पर गए तो भयावह हालात थे। स्थानीय अधिकारी पूरी तरह से उदासीन थे। लोगों के बीच आने के बजाए अपने घरों में दुबके थे। लोग परेशान थे, लेकिन कोई मदद करने तक नहीं आ रहा था।

इस बाबत डीएम, सीडीओ और आपदा प्रबंधन सचिव से बात करने की कोशिश की गई। लेकिन कोई संपर्क नहीं हो पाया। ऐसा प्रतीत होता था कि जिम्मेदार अधिकारियों को आपदा पीड़ितों की कोई परवाह ही नहीं है।

लोगों में काफी रोष है। इसलिए जल्द से जल्द से पीड़ितों को राहत और मुआवजा दिया जाए। दूसरी तरफ, प्रीतम ने मुख्य सचिव से एलटी चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति दिलाने का भी अनुरोध किया। कहा कि एलटी चयन परीक्षा में पास हो चुके 800 अभ्यर्थी कई महीनों से नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं। इस मौके पर संजय पालीवाल,दिनेश पुंडीर आदि भी मौजूद रहे।

Share this story

Around The Web