Uttarakhand News Bulletin-17 : चकराता आने वाले पर्यटकों को देना होगा पार्किंग शुल्क, जानिए विकासनगर की ऐसी ही तमाम छोटी बड़ी खबरें...

Uttarakhand News Bulletin-17 : Tourists coming to Chakrata will have to pay parking fee, know all such small and big news of Vikasnagar

Uttarakhand News Bulletin-17 : चकराता आने वाले पर्यटकों को देना होगा पार्किंग शुल्क, जानिए विकासनगर की ऐसी ही तमाम छोटी बड़ी खबरें...

विकासनगर। अब चकराता आने पर पर्यटकों को प्रतिदिन के हिसाब से पार्किंग शुल्क चुकाना होगा। इसके तहत कॉमर्शियल यात्री वाहन पर 200 रुपये प्रतिदिन और पर्यटकों के चार पहिया वाहनों पर 100 रुपये प्रतिदिन पार्किंग शुल्क लिया जाएगा।

यह निर्णय शुक्रवार को चकराता छावनी कार्यालय में आयोजित बोर्ड बैठक में लिया गया। वहीं, छावनी बाजार में वाहनों के प्रवेश का समय भी निर्धारित किया गया।

शुक्रवार सुबह दस बजे चकराता कैंट कार्यालय स्थित शहीद केसरी चंद बोर्ड सभागार में बोर्ड अध्यक्ष ब्रिगेडियर एलिन देव साहा की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई।बैठक में बोर्ड सचिव और मुख्य अधिशासी अधिकारी आरएन मंडल द्वारा आय व्यय का ब्योरा प्रस्तुत किया गया।

छावनी परिषद के मनोनीत सदस्य अनिल चांदना ने बताया कि बोर्ड बैठक में चकराता आने वाले पर्यटकों के वाहनों पर पार्किंग शुल्क लगाने का निर्णय लिया गया। इसके साथ ही छावनी क्षेत्र में पार्क किए जाने वाले स्थानीय प्राइवेट वाहनों पर प्रतिमाह पांच सौ रुपये और कॉर्मशियल वाहनों पर पर प्रतिमाह पंद्रह सौ रुपये पार्किंग शुल्क निर्धारित किया गया।

वहीं, छावनी बाजार में सुबह 11 से शाम पांच बजे तक कॉमर्शियल और चौपहिया वाहनों के प्रवेश पर भी रोक लगाई जाएगी। वाहनों के प्रवेश का नियम तोड़ने वालों से एक हजार रुपया जुर्माना वसूला जाएगा। बाजार में शाम पांच बजे बाद ही वाहन अनलोड हो पाएंगे।

इसके अलावा बोर्ड में स्थायी नियुक्ति न होने तक खाली पड़े सेनेट्री इंस्पेक्टर, जूनियर क्लर्क, कंजेरवेसी सुपरवाइजर के पद को आउटसोर्सिंग के माध्यम से भरने का निर्णय लिया गया। उन्होंने बताया कि सफाई व्यवस्था को और अच्छा करने के लिए छावनी क्षेत्र में नए डस्टबिन लगाने पर भी सहमति बनी।

मल्टी लेवल पार्किंग बनाये जाने पर भी चर्चा हुई। बैठक में अध्यक्ष, मनोनीत सदस्य ओर सीईओ के साथ ही कार्यालय अधीक्षक संदीप जोशी भी मौजूद रहे।

भाजपा जनजाति मोर्चा करेगा राष्ट्रपति पद की प्रत्याशी मुर्मू का स्वागत 

विकासनगर। भारतीय जनता पार्टी जन जाति मोर्चा की शुक्रवार को नगर पालिका सभागार में बैठक हुई। बैठक में एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के देहरादून आगमन पर उनका पारंपरिक रीति रिवाजों के साथ स्वागत करने का निर्णय लिया गया।

जनजाति मोर्चा के प्रदेश महामंत्री राजवीर राठौड़ ने कहा कि आदिवासी समुदाय से पहली महिला राष्ट्रपति देश को मिलने वाली है। इससे पूरे विश्व में भी सकारात्मक संदेश जाएगा। भारत की आलोचना करने वालों को पता चल जाएगा कि भारतीय लोकतंत्र में हर समुदाय के लोगों को समान अधिकार मिले हुए हैं और वे अपनी योग्यता के बल पर देश के सर्वाच्च पद तक पहुंच सकते हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार हर वर्ग को समाज के प्रत्येक क्षेत्र में बराबरी के अवसर मुहैया करा रही है।

आदिवासी समुदाय से संबंध रखने वाली महिला का देश के सर्वोच्च पद के लिए नामांकन इस बात का प्रतीक है कि भारत का लोकतंत्र विश्व का सर्वश्रेष्ठ लोकतंत्र है। उन्होंने कहा कि यह पल आदिवासी और जनजाति वर्ग के लिए गौरव का पल है।

कहा कि जनजाति मोर्चा जल्द ही एक धन्यवाद पत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को प्रेषित करेगा। इस दौरान नगर पालिका अध्यक्ष शांति जुवांठा, जिलाध्यक्ष रमेश चौहान ,कृष्णा तोमर, गुड्डी शर्मा, नैन राणा, शूरवीर सिंह, प्रीतम सिंह, विक्रम सिंह, बिंदिया शर्मा, प्रियांशु आदि मौजूद रहे।

परिवहन विभाग की टीम ने छह स्कूल बस सहित पंद्रह वाहनों का चालान काटा

विकासनगर। यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहनों के खिलाफ परिवहन विभाग की कार्रवाई लगातार जारी रही। टीम ने यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर छह स्कूल बसों सहित कुल पंद्रह वाहनों का चालान काटा है।

परिवहन विभाग की टीम लगातार यातायात नियमों को लेकर क्षेत्र में अभियान चला रही है। एआरटीओ रावत सिंह कटारिया के नेतृत्व में टीम ने पछुवादून क्षेत्र के विभिन्न मार्गों सेलाकुई से विकासनगर, बाड़वाला, जुड्डो रोड, शिमला बाईपास रोड पर अभियान चलाया।

इस दौरान छह स्कूल बसों में अनियमिततायें पायी गयी। बसों में तमाम दिशा निर्देशों के बावजूद फर्स्ट एड बॉक्स, अग्निशमन यंत्र नहीं मिले। बसों के इमरजेंसी दरवाजे भी नहीं खुल पा रहे थे। इमरजेंसी दरवाजों के पास सवारी सीट लगी थी।

जिससे दरवाजे खोलने में दिक्कत हो रही थी। इस पर टीम ने छह स्कूल बसों का चालान किया। इसके अलावा चार टू व्हीलर वाहनों का भी चालान किया गया है। चार डिलीवरी वैन और एक लोडर का भी ओवर लोडिंग में चालान काटा गया है।

एआरटीओ रावत सिंह कटारिया ने बताया कि अभियान लगातार जारी रहेगा। कहा कि नियमों का उल्लंघन करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा।

योग प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को किया सम्मानित

विकासनगर। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर संस्कार भारती की ओर से हनुमदधाम में कराई गई योग प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली सैपियंस स्कूल की टीम का शुक्रवार को स्कूल में सम्मान किया गया। इसके साथ ही शिक्षकों ने सभी छात्र-छात्राओं को प्रतिदिन योग करने की सलाह दी।

योग प्रशिक्षक विरेंद्र चौहान ने बताया कि प्रतियोगिता में उनकी स्कूल की ओर से शौर्य तोमर, आफरीन, अन्वेषा, शिवांशी, सत्यम, कनिष्का, आरुषि, अंशिका और कनिष्का चौहान ने प्रतिभाग किया था। प्रतियोगिता के तहत प्रतिभाग करने वाले कुल पंद्रह विद्यालयों की टीम में से सैपियंस स्कूल की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

सभी प्रतिभागियों को विद्यालय प्रबंधन की ओर से सम्मानित किया गया। इस दौरान प्रधानाचार्य नवीन तनेजा, उप प्रधानाचार्य बिंदेश्वरी डॉड, रविकांत सपरा, रशिता सपरा आदि मौजूद रहे।

जल विद्युत परियोजना में रोजगार की मांग को लेकर युवाओं ने महाप्रबंधक कार्यालय घेरा

विकासनगर। लखवाड़-व्यासी जल विद्युत परियोजना में रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू करने और नए पदों का सृजन करने की मांग को लेकर बांध प्रभावित गांवों के युवाओं ने उत्तराखंड जल विद्युत निगम के डाकपत्थर स्थित महाप्रबंधक कार्यालय का घेराव किया। काफी देर तक प्रदर्शन करने के बाद युवाओं की यूजेवीएनएल प्रबंधन के साथ वार्ता हुई।

शुक्रवार को यूजेवीएनएल के महाप्रबंधक कार्यालय का घेराव करने पहुंचे युवाओं ने प्रबंधन के साथ हुई वार्ता के दौरान प्रबंधन के सामने रोजगार मुहैया कराने और लोहारी के ग्रामीणों का विस्थापन करने की मांग रखी।

लखवाड़ व्यासी श्रम संविदा सहकारी समिति के अध्यक्ष अभय प्रताप सिंह ने कहा कि यूजेवीएनएल प्रबंधन की ओर से वर्ष 2016 में लखवाड़-व्यासी परियोजना के रिक्त पदों के लिए भर्ती परीक्षा कराई गई थी। इसका कोई परिणाम नहीं निकला। पांच साल लंबा समय बीत जाने के बावजूद प्रबंधन की ओर से न ही भर्ती परीक्षा कराई जा रही है और न ही नए पदों का सृजन किया जा रहा है। जबकि क्षेत्र युवाओं के पास रोजी रोटी का कोई साधन नहीं है।

जमीनें परियोजना के लिए अधिग्रहित की चुकी हैं। ऐसे में परियोजना के तहत रोजगार के अवसर मुहैया कराए जाने जरूरी हैं। उन्होंने कहा कि परियोजना शुरू होने के दौरान प्रत्येक युवा को योग्यता के अनुसार रोजगार मुहैया कराए जाने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अब यूजेवीएनएल प्रबंधन अपने आश्वासन पर खरा नहीं उतर रहा है।

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि व्यासी बांध विस्थापित लोहारी के ग्रामीण पिछले चार माह से सरकारी स्कूल के भवन में शरण लिए हुए हैं। उनके विस्थापन को लेकर शासन, प्रशासन गंभीर नहीं दिखाई दे रहा है। बरसात में झील का जल स्तर पर बढ़ने से स्कूल भवन के भी डूबने का खतरा बना हुआ है।

कहा कि लोहारी के ग्रामीणों का विस्थापन और बांध परियोजना के तहत युवाओं को रोजगार मुहैया कराया जाना जरूरी है। बताया कि यूजेवीएनएल के महाप्रबंधक ने एसके सिंह ने युवाओं को उनकी मांगों पर सकरात्मक कार्यवाही का आश्वासन दिया है। वार्ता में तरुण तोमर, संदीप तोमर, अजय, सुरेश चौहान, विनय प्रताप, रजत तोमर, रितेश तोमर आदि शामिल रहे।

जौनसार बावर क्षेत्र में 12 सड़कें मलबा आने से बंद

विकासनगर। जौनसार बावर के करीब एक दर्जन मोटर मार्ग शुक्रवार को जगह-जगह मलबा आने से बंद पड़े हैं। इससे इन मार्गों पर आवाजाही ठप है।

देहरादून जिले के जौनसार बावर क्षेत्र में बारिश की वजह से सड़कों पर यातायात बाधित हुआ है। जिसमें खारसी मोटर मार्ग, क्वांसी जोगियो मोटर मार्ग, क्यारा पुल साहिया, मिंडाल, बाढऊ-जंदेऊ- गागरो, समरजैन, हरिपुर-कोटी-इच्छाडी-मीनस, मुंशी घाटी-ध्योरा, बनियाना, खारसी, बाइला, झिटाड आदि मार्ग शामिल हैं। इन सभी मोटर मार्गों पर मलबा हटाने के लिए लोनिवि ने जेसीबी लगा दी है। दोपहर दो बजे तक मार्गों को खोले जाने की संभावना है।

कैंट अध्यक्ष ने जांची छावनी बाजार की व्यवस्थाएं

विकासनगर। चकराता छावनी परिषद चकराता के अध्यक्ष ब्रिगेडियर एलिन देव साहा ने शुक्रवार को छावनी बाजार का निरीक्षण कर व्यापारियों और छावनी क्षेत्र के निवासियों से उनकी समस्याओं पर चर्चा की। दोपहर बाद छावनी बाजार पहुंचे बोर्ड अध्यक्ष का व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया।

अध्यक्ष ने कहा कि कोई भी व्यापारी सड़क पर दुकान न लगाए। बाजार में पार्किंग की आवश्यकता जताते हुए उन्होंने इस पर जल्द कार्यवाही का आश्वासन दिया। बाजार में जाम न लगे, इसके लिए एक रिंग रोड बनाये जाने का प्रस्ताव लाने की बात उन्होंने व्यापारियों से कही। बताया कि कैंट बोर्ड का प्रयास रहेगा कि छावनी बाजार एक मॉडल बाजार के रूप में विकसित हो सके, इसके लिए स्थानीय व्यपारियों का सहयोग जरूरी है।

स्थानीय लोगों ने उनसे भवन निर्माण की अनुमति न मिलने की बात कही। जिस पर उन्होंने कहा कि कैंट में नक्शा जमा करने पर नियमानुसार भवन निर्माण की अनुमति दी जाएगी। इसके साथ ही व्यापारियों ने छावनी क्षेत्र में पेयजल की समस्या को लेकर भी शिकायत की।

अध्यक्ष ने जल्द ही पेयजल आपूर्ति सुचारु कराने और खराब हुई सड़कों, नालों के मरम्मत कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। कहा कि स्थानीय निवासियों की सभी समस्याओं का निराकरण कैंट बोर्ड की प्राथमिकता है।

इस मौके पर मुख्य अधिशासी अधिकारी आरएन मंडल, मनोनीत सदस्य अनिल चांदना, व्यापार मंडल अध्यक्ष केशर चौहान, सचिव अमित अरोरा, कोषाध्यक्ष दीपक, सह सचिव प्रदीप जोशी, कार्यालय अधीक्षक संदीप जोशी, प्रभारी सेनेट्री इंस्पेक्टर शेखर कुमार, खुशीराम कोठारी, अरविंद जैन आदि मौजूद रहे।

Share this story

Around The Web