इस योग और फल सब्जी को करें शामिल और पाएं ल्यूकोरिया से निजात

अक्सर महिलाओं को ल्यूकोरिया होता है जिससे महिलाओं के योनि से सफेद पानी बहता है। आमतौर पर यह युवा लड़कियों और मध्यम आयु की महिलाओं में देखा गया है।
इस योग और फल सब्जी को करें शामिल और पाएं ल्यूकोरिया से निजात

अक्सर महिलाओं को ल्यूकोरिया होता है जिससे महिलाओं के योनि से सफेद पानी बहता है। आमतौर पर यह युवा लड़कियों और मध्यम आयु की महिलाओं में देखा गया है। पीसीओडी, पीरियड्स और लिकोरिया की स्थिति डाइट एक्सरसाइज की कमी और स्ट्रेस के कारण होती है।

इसके अलावा इसके अलावा बॉडी में हार्मोनल चेंज एवं महिलाओं की शारीरिक प्रोसेस को एक अनोखे तरीके से प्रभावित करती है। जिसके जल्दी पता नहीं चलने से अल्पकालिक और दीर्घकालिक स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनती है।

ल्यूकोरिया के लक्षण क्या है

बिना किसी मौजूद कारण के योनि से हल्के पीले, लाल, काले जैसे तरल पदार्थ लगातार या रुक रुक के बहता है और जब यह संक्रामक हो जाता है तो खुजली जैसे अतिरिक्त समस्या का कारण बनता है। इस तरह के प्रकृति को ध्यान में रखते हुए इसे दो प्रकार में विभाजित किया गया है।

एक श्वेत प्रदर और दूसरा रक्त प्रदर। इसके साथ-साथ सिरदर्द, कब्ज और  पेट के निचले हिस्से में खिंचाव की अनुभूति महसूस होती है। स्त्राव में बदबू आना, चिड़चिड़ापन वजन बढ़ना या कम होना शरीर का सूजन होना, स्तन में कोमलता महसूस करना, हैवी या अनियमित रक्तस्त्राव ,योनि मार्ग में खुजली वाला दर्द।

ल्यूकोरिया के कारण क्या है

ज्यादातर गलत लाइफस्टाइल और अनाब-शनाब खानपान किसी भी बीमारी का मुख्य कारण होता है। इसके साथ गंदा अंडर गारमेंट भी इस बीमारी का मुख्य कारण में से एक है। कुछ मामलों में लड़कियों में आंतों के कीड़े भी एक प्रेरक कारण बन सकते हैं। लेकिन आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि योग के सहायता से आप इस समस्या से काफी हद तक निजात पा सकती है।

इसलिए आइए जानते हैं कि इसके लिए हमें कौन सा योग करना चाहिए

कपालभार्ती प्राणायाम इसके साथ-साथ अन्य उपाय हमें अपने खानपान पर महत्वपूर्ण ध्यान देना चाहिए। चीनी और नमक ज्यादा नहीं खाना चाहिए लो ग्लाइसेमिक फूड प्रोडक्ट खाना चाहिए। खाने में ब्रोकली, फूल गोभी, पत्ता गोभी, पत्तेदार सब्जी, बींस, शकरकंद, सेब संतरा, जैसे सब्जियों और फलों का सेवन करना चाहिए। हर्बल चाय पीना चाहिए, सब्जियों का और फल के जूस का सेवन अधिक करना चाहिए। बाहर के खान पान से दूर रहना चाहिए।

Share this story

Around The Web