खाना खाते समय भूलकर भी थाली में एक साथ ना रखें 3 रोटियां, पीछे छिपी है इसके धार्मिक और वैज्ञानिक कारण

हिंदू धर्म में व्रत और त्योहारों से जुड़ी कई बातों का भी जिक्र किया गया है।
खाना खाते समय भूलकर भी थाली में एक साथ ना रखें 3 रोटियां, पीछे छिपी है इसके धार्मिक, वैज्ञानिक कारण

हिंदू धर्म में व्रत और त्योहारों से जुड़ी कई बातों का भी जिक्र किया गया है यहाँ सोने, उठने, खाने-पीने के कुछ नियम दिए गए हैं। ये नियम कई सालों से लागू हैं। इतना ही नहीं, ये नियम अब परंपरा का हिस्सा हैं।

बहुत से लोग इस परंपरा का पालन करते हैं लेकिन वे इसके पीछे के कारणों को नहीं जानते हैं ऐसी ही एक परंपरा है खाने की थाली में एक साथ तीन छत्ते नहीं रखने की परंपरा।

यह न केवल धार्मिक कारणों से बल्कि वैज्ञानिक कारणों से भी है।

  • मृत व्यक्ति की ट्रे में 3 छत्ते रखे जाते हैं :

# जब किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है, तो तेरहवें दिन भोजन का पत्ता दिया जाता है।

# इसलिए 3 छत्तों को एक ट्रे में रखना मृत व्यक्ति का भोजन माना जाता है।

# ऐसा भी कहा जाता है कि एक ट्रे में 3 छत्ते एक साथ खाने से दूसरों से झगड़ा होने लगता है।

इसका वैज्ञानिक कारण :

# कभी भी ज्यादा खाना नहीं है। इसलिए वैज्ञानिक तरीके से भोजन करते समय पत्ती में तीन छत्ते नहीं लेने चाहिए।

# दिन के किसी भी समय भोजन में 1 पोली, एक कटोरी चपाती और थोड़े से चावल जरूर खाने चाहिए।

# ज्यादा खाने से सेहत को खतरा हो सकता है।

Share this story

Around The Web