पितृदोष से मुक्ति के लिए अमावस्या के दिन करें ये अचूक उपाय

अगर आप की कुंडली में पितृदोष है तो ऐसे में आप अमावस्या के दिन किसी गरीब को खीर के साथ भोजन कराएं ऐसा करने से कुंडली से पितृदोष दूर हो जाता है वही पितृपक्ष या अमावस्या के दिन आप पीपल का पेड़ लगा सकते हैं । 

पितृदोष से मुक्ति के लिए अमावस्या के दिन करें ये अचूक उपायपितृदोष से मुक्ति के लिए अमावस्या के दिन करें ये अचूक उपाय

धार्मिक तौर पर पितृपक्ष को बेहद ही खास माना जाता है और अभी पितृपक्ष चल रहा है साल के ये 15 दिन पूर्वजों को समर्पित होता है इस दौरान लोग अपने पूर्वजों को याद करते हैं और उनका श्राद्ध कर्म व तर्पण करते हैं। 

मान्यता है कि पितृपक्ष के दिनों में किया जाने वाला श्राद्ध कर्म व तर्पण पितरों को प्रसन्नता प्रदान करता है और पूर्वज अपने वंशजों को आशीर्वाद प्रदान करते हैं माना जाता है कि जिससे पूर्वज प्रसन्न रहते हैं। 

उसके जीवन के सभी संकट दूर हो जाते हैं और घर परिवार में सुख शांति व समृद्धि बनी रहती है लेकिन अगर किसी जातक की कुंडली में पितृदोष होता है तो उसे अपने जीवन में कई तरह की समस्याओं को झेलना पड़ता है और आर्थिक संकट भी बना रहता है । 

अगर आप भी पितृदोष से घिरे हुए है और इससे निजात पाना चाहते हैं तो आप पितृपक्ष के दिनों में कुछ उपायों को कर सकते हैं, तो आज हम आपको इन्हीं उपायों के बारे में बता रहे हैं तो आइए जानते हैं। 

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार कुंडली में पितृदोष होने से जातक को कई तरह की परेशानियां उठानी पड़ती है पितृदोष से पीडि़त जातक की तरक्की नहीं हो पाती है उसको बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। 

जिस कारण वह मानसिक परेशानी झेलता है घर में बरकत नहीं रहती है मेहनत करने के बावजूद धन नहीं बचता, पारिवारिक जीवन पर भी प्रभाव पड़ता है और नौकरी में भी परेशानियां उठानी पड़ जाती है पितृदोष होने पर संतान के विवाह में भी दिक्कतें आती है। 

जानिए पितृदोष से राहत पाने के उपाय :

अगर आप की कुंडली में पितृदोष है तो ऐसे में आप अमावस्या के दिन किसी गरीब को खीर के साथ भोजन कराएं ऐसा करने से कुंडली से पितृदोष दूर हो जाता है वही पितृपक्ष या अमावस्या के दिन आप पीपल का पेड़ लगा सकते हैं । 

उसकी देखभल करें ऐसा करने से पितृदोष का प्रभाव कम हो जाता है वही रोजाना सुबह के समय श्रीमद्र भागवत गीता का पाठ करना चाहिए इससे भी राहत मिलती है । 

वही घर के पूजन स्थल पर रोजाना शाम के समय दीपक जलाना चाहिए ऐसा करने से पितृदोष दूर हो जाती है और जीवन में सुख शांति का आगमन होता है। 

Share this story

Around The Web