Cricket Rule: अब बल्लेबाज नहीं कर सकेंगे स्ट्राइक चेंज, T20 वर्ड कप होगा और भी मजेदार

आईसीसी के नए नियम 1 अक्टूबर से लागू हो जाएंगे इसमें एक नियम ऐसा भी है कि अगर कोई बल्लेबाज कैच आउट होता है तो अगली गेंद नए बल्लेबाज को खेलना होगा। पहले कैच आउट के दौरान अगर नॉन स्ट्राइकर बल्लेबाज स्ट्राइकर एंड तक पहुंच जाता था तो अगली गेंद वही खेलता था।
Cricket Rule: अब बल्लेबाज नहीं कर सकेंगे स्ट्राइक चेंज, T20 वर्ड कप होगा और भी मजेदार

Cricket Rule : क्रिकेट में आए दिन कई बदलाव देखने को मिलते रहते हैं। अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल ने इंटरनेशनल क्रिकेट के नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। इन नए नियमों को आने वाले T20 वर्ल्ड कप में जोड़ा जाएगा।

वैसे 1 अक्टूबर से ही इन नियमों को लागू कर दिया जाएगा। आने वाले इस T20 वर्ल्ड कप का दुनिया भर के लोगों को बेसब्री से इंतजार है, ऐसे में काउंसिल द्वारा लाए गए कुछ नए नियम इस खेल को और भी मजेदार बना देंगे।

आईसीसी द्वारा एक नया नियम बनाया गया है जिसमें जब कोई बल्लेबाज आउट हो जाता है तो नए बल्लेबाज को 2 मिनट के अंदर ही कीज पर आकर स्ट्राइक लेना होगा।अगर नया बल्लेबाज इस समय सीमा में कीज पर नहीं आता तो विरोधी टीम का कप्तान टाइम आउट का अपील कर सकता हैं।

अपील के जरिए बल्लेबाजी करने वाले टीम को पेनल्टी लग सकती है। आईसीसी के इस नए नियम में लिखा है टेस्ट और वनडे में अगर बल्लेबाज आउट होता है तो नए बल्लेबाज को 2 मिनट के अंदर ही स्ट्राइक लेना होगा।

वहीं T20 में यह सीमा समय सीमा घटकर 90 सेकंड का हो जाएगा। पहले नए बल्लेबाज को 3 मिनट का वक्त मिलता था। अगर अब नया बल्लेबाज नए समय सीमा के अंतर्गत स्ट्राइक नहीं ले पाता तो फील्डिंग टीम टाइमआउट का अपील कर सकती है।

अब बल्लेबाज नहीं करेंगे स्ट्राइक चेंज :

आईसीसी के नए नियम 1 अक्टूबर से लागू हो जाएंगे इसमें एक नियम ऐसा भी है कि अगर कोई बल्लेबाज कैच आउट होता है तो अगली गेंद नए बल्लेबाज को खेलना होगा। पहले कैच आउट के दौरान अगर नॉन स्ट्राइकर बल्लेबाज स्ट्राइकर एंड तक पहुंच जाता था तो अगली गेंद वही खेलता था।

लेकिन अब इस नियम में बदलाव कर दिया गया है यानी कि अब बल्लेबाज स्ट्राइक चेंज नहीं कर सकते हैं। कैच आउट के बाद अगली गेंद को नए बल्लेबाज को ही खेलना होगा। वहीं तीसरा नियम बॉल पर सलाइवा के लगाने पर है।

पहले कई बार आपने देखा होगा कि बॉलरों द्वारा अपने सलाइवा को बॉल पर रगड़ा जाता था। कोरोना को देखते हुए इसे बंद कर दिया गया था लेकिन नए नियम में ऐसा करने पर बैन लगा दिया गया है। यानी कि अब कोई भी बॉलर पर स्लाइवर नहीं लगा सकता है।

ऐसा करने पर अगर प्रतिद्वंदी टीम अपील करती है तो अंपायर फील्डिंग टीम पर 5 रन का पेनल्टी लगा सकता है। वहीं अगर मामला संगीन हुआ तो बॉलर पर कार्यवाही भी हो सकती है। इन सभी फैसलों को आईसीसी क्रिकेट काउंसिल द्वारा लिया गया है।

इस काउंसिल में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह समेत रमीज राजा, महेला जयवर्धने, डेनियल विटोरी, वीवीएस लक्ष्मण और अन्य देश के कई प्रतिनिधि शामिल है।

Share this story

Around The Web