कांकेर : मत्स्य विभाग के माध्यम से तालाब निर्माण के नाम पर किसानों से लाखो की ठगी

कांकेर : मत्स्य विभाग के माध्यम से तालाब निर्माण के नाम पर किसानों से लाखो की ठगी


कांकेर, 10 मई (हि.स.)। जिले के परलकोट क्षेत्र के ग्राम पिव्ही.नं. 37 के एक दलाल ने किसानों को मत्स्य विभाग से तालाब निर्माण कराने का झांसा देकर लाखो रुपये किसानों से ठग लिया है।

ठगी के शिकार बने किसानों ने बताया कि दलाल द्वारा मतत्स्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी को खर्चा पानी देने के नाम से लगभग 70 किसानों से 25 से 30 हजार रुपये लिया गया है। इसके दो वर्ष बीत जाने के बाद भी किसानों का तालाब निर्माण कार्य नहीं हो पाया, रोज दलाल द्वारा नया-नया बहाना बनाकर किसानों को ठगी सिलसिला जारी है। किसानों ने धोखाधड़ी करने वाले दलाल के नाम पर थाने में रिपोर्ट दर्ज करवा दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दलाल ने किसानों को तालाब निर्माण करवा देने के भरोसा जितने के लिए किसानों को पखांजुर मत्स्य विभाग के कार्यलय हैचरी में बुलाया गया ताकि किसानों को भरोसा हो जाए कि तालाब निर्माण जल्द से जल्द शुरू हो जाएगा, लेकिन दो साल बीत जाने के बाद भी किसानों का तालाब निर्माण नहीं हो पाया है। हताश किसान आज दर दर की ठोकर खाने को मजबूर हो गए हैं।

गौतम नामक दलाल ने स्वयं स्वीकार किया है, कि किसानों से तालाब निर्माण कराने के लिए रुपए लिया है। दलाल गौतम ने बताया कि इंजीनियर से लेकर मत्स्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी को भी तालाब स्वीकृत करने के लिए मोटी रकम दिया गया है।

मत्स्य विभाग के नाम पर किसानों से ठगी के मामले पर सहायक संचालक एमएल नेताम ने कहा कि, आरोप बेबुनियाद है, कार्यालय में ऐसी तालाब खुदवाने की कोई फाइल पहुंची ही नहीं है।

हिन्दुस्थान समाचार/ राकेश पांडे

Share this story

Around The Web