उग्र भीड़ ने की वन सुरक्षा समिति सदस्य की लाठी-डंडे से पीट कर हत्या

उग्र भीड़ ने की वन सुरक्षा समिति सदस्य की लाठी-डंडे से पीट कर हत्या


गुमला,6 मई (हि.स.) । जिले के भरनो प्रखंड के रायकेरा जंगल के पास उग्र ग्रामीणों ने शुक्रवार को लाठी डंडे से पीट कर वन सुरक्षा समिति के सदस्य शमीम अंसारी (42) की हत्या कर दी। वहीं मृतक के नौ वर्षीय पुत्र और वनरक्षी ने भाग कर अपनी जान बचाई।

जानकारी के अनुसार मृतक वन सुरक्षा समिति का सदस्य व वनवाचर होने के कारण जंगल में पेड़ों की कटाई पर रोक लगाया करता था। शुक्रवार की सुबह कुछ महिलाएं रायकेरा जंगल में लकड़ियां काट रही थी। शमीम अंसारी ने इसकी जानकारी वनरक्षी नवल किशोर को दी। इसके बाद वनरक्षी,शमीम और उसका पुत्र बाईक से रायकेरा जंगल पहुंचे। उन्हें देखकर लकड़ियां काट रही महिलाएं लकड़ी छोड़कर गांव की ओर भाग गई । तब वनरक्षी ने कटे हुए लकड़ियों को जप्त कर लिया और विभाग में ले जाने की तैयारी करने लगे । इतने में गांव से 25-30 लोग लाठी डंडे लेकर उनके पास आये और मारपीट करने लगे । शमीम ,वनरक्षी और शमीम का 9 वर्षीय बेटा अनीश भागने लगे । ग्रामीणों ने दौड़ाकर चट्टी रोड के पास शमीम को पकड़ लिया और लाठी डंडे से पीटपीट कर उसकी हत्या कर दी । फिर ग्रामीण उसके बेटे और वनरक्षी को भी मारने के लिए दौड़ाने लगे। लेकिन दोनों ने भागकर अपनी जान बचायी ।

इधर सूचना पर शमीम की पत्नी आयशा खातून घटना स्थल पहुंची और शमीम को उठाकर भरनो अस्पताल लायी। परंतु उसकी मौत हो चुकी थी । इधर वनरक्षी ने इसकी जानकारी पुलिस को दिया । फिर थानेदार कृष्ण कुमार तिवारी एवं एसआई सत्यम गुप्ता दलबल के साथ घटना स्थल पहुंचे । पुलिस ने जंगल से समीम के नौ वर्षीय बेटे अनीश और वनरक्षी नवलकिशोर को सकुशल बरामद कर अपने संरक्षण में लिया । पुलिस ने जंगल से शमीम की बाईक भी बरामद किया ।

हत्या के बाद बांधटोली गांव से हत्या में शामिल लोग फरार हो गए हैं । पुलिस को मृतक की पत्नी और बेटे ने हत्यारो का नाम भी बताया है । पुलिस हत्यारो की गिरफ्तारी के लिए हरेक घर की तलाशी ले रही है । बता दें कि मृतक और हत्यारे सभी मुस्लिम समाज के हैं । पूर्व से ही अपने रिस्तेदारो और ग्रामीणों के साथ शमीम का विवाद होते आ रहा है । कई बार ग्रामीणों ने शमीम को घायल भी किया और मामला थाना भी पहुंचा था । पिछले साल जमीन विवाद में ग्रामीणों ने समीम को जेल भी भेजा था । जेल से वापस आने के बाद से ही आपसी रंजिश चल रही थी । पूरे गांव के लोग शमीम को अकेला कर दिए था और आज उसकी हत्या कर दी गई ।

35 नामजद और पांच अज्ञात पर दर्ज कराई प्राथमिकी, चार गिरफ्तार

रायकेरा बांधटोली गांव निवासी शमीम अंसारी की हत्या को लेकर उसकी पत्नी समिला खातून उर्फ आयशा ने इसी गांव के कुल 35 नामजद और पांच अज्ञात के विरुद्ध भरनो थाना में एक प्राथमिकी दर्ज कराई है । प्राथमिकी दर्ज होने के बाद भरनो पुलिस ने छापेमारी कर चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है । गिरफ्तार आरोपितों में रायकेरा बांधटोली गांव निवासी ताजबुल्ला अंसारी , मुस्लिम अंसारी ,नूरजहां खातून और सिद्दीक अंसारी शामिल हैं। इस सम्बंध में थाना प्रभारी कृष्णा कुमार तिवारी ने बताया कि मृतक शमीम अंसारी की पत्नी आयशा के द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराये जाने के बाद पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

हिन्दुस्थान समाचार / हरिओम

Share this story

Around The Web