भाजपा नीत गठबंधन सरकार की पहली वर्षगांठः यातायात पुलिस वाहनों को नियंत्रित करने में विफल

भाजपा नीत गठबंधन सरकार की पहली वर्षगांठः यातायात पुलिस वाहनों को नियंत्रित करने में विफल


भाजपा नीत गठबंधन सरकार की पहली वर्षगांठः यातायात पुलिस वाहनों को नियंत्रित करने में विफल


भाजपा नीत गठबंधन सरकार की पहली वर्षगांठः यातायात पुलिस वाहनों को नियंत्रित करने में विफल


भाजपा नीत गठबंधन सरकार की पहली वर्षगांठः यातायात पुलिस वाहनों को नियंत्रित करने में विफल


भाजपा नीत गठबंधन सरकार की पहली वर्षगांठः यातायात पुलिस वाहनों को नियंत्रित करने में विफल


भाजपा नीत गठबंधन सरकार की पहली वर्षगांठः यातायात पुलिस वाहनों को नियंत्रित करने में विफल


गुवाहाटी, 10 मई (हि.स.)। भाजपा नीत गठबंधन की दूसरी सरकार की पहली वर्षगांठ पर खानापाड़ा पशु चिकित्सा मैदान में एक विराट जनसभा का आयोजन किया गया था। इसके चलते गुवाहाटी यातायात पुलिस जनसभा में भाग लेने के लिए आने वाले वाहनों को ठीक ढंग से नियंत्रित करने में एक तरह से विफल रही। यातायात पुलिस का मैनेजमेंट सिस्टम सही ढंग से काम नहीं करने के कारण सबसे अधिक परेशानी स्कूल के बच्चों को उठानी पड़ी।

खानापाड़ा पशु चिकित्सा खेल मैदान में आयोजित कार्यक्रम में राज्य के विभिन्न हिस्सों से आए बसों की पार्किंग व्यवस्था नहीं होने की वजह से सभी बसों को खानापारा से राष्ट्रीय राजमार्ग-37 होते हुए जोराबाट की ओर राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे पार्किंग के लिए भेज दिया गया था। जिसकी वजह से कार्यक्रम समाप्त होने के बाद राष्ट्रीय राजमार्ग-37 पर भयंकर जाम लग गया।

जोराबाट से गुवाहाटी की ओर जाने वाली सड़क पर यातायात पूरी तरह ठप हो गया। जिसकी वजह से स्कूल के बच्चों को घर पहुंचने में रात के 7 बज गए। गर्मी और जाम की वजह से स्कूली बसों में बच्चे रोते बिलखते देखे गए। वहीं खानापाड़ा खेल मैदान में विभिन्न जिलों से आए लोगों को उतारने के बाद बस को जोराबाट और इसके आसपास इलाके में पार्किंग किए जाने की वजह से बस से आए लोगों को अपने बस की तलाश करने में काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ा।

राष्ट्रीय राजमार्ग-37 के किनारे बसों की तलाश में हजारों की संख्या में लोग इधर-उधर भटकते देखे गए। पार्किंग की उचित व्यवस्था और गुवाहाटी यातायात पुलिस द्वारा सही तरीके से रोडमैप तैयार नहीं किए जाने के कारण स्कूल के बच्चे के अलावा कार्यक्रम में आए लोगों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

बच्चों के अभिभावकों ने नाराजगी जताते हुए कहा कि इस तरह के कार्यक्रम के दौरान असम पुलिस को पूरी तरह तैयारी कर लेनी चाहिए थी। स्कूल बस ने जब समय से बच्चों को घर तक नहीं छोड़ा तो अभिभावक अपने बच्चों को लेने के लिए स्कूल तक स्कूटी, बाइक से पहुंचे। क्योंकि, रास्ता पूरी तरह ठप था। देर रात तक जोराबाट से गुवाहाटी की ओर-जाने वाली सड़क पूरी तरह जाम रही।

हिन्दुस्थान समाचार /असरार /अरविंद

Share this story

Around The Web