संभावित बाढ़-कटाव से निपटने के लिए सभी तैयारियां समय पर करें पूरा : नितिन नवीन

संभावित बाढ़-कटाव से निपटने के लिए सभी तैयारियां समय पर करें पूरा : नितिन नवीन


संभावित बाढ़-कटाव से निपटने के लिए सभी तैयारियां समय पर करें पूरा : नितिन नवीन


संभावित बाढ़-कटाव से निपटने के लिए सभी तैयारियां समय पर करें पूरा : नितिन नवीन


बेतिया, 10 मई (हि.स.)।बिहार में भाजपा कोटे से पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन की अध्यक्षता में मंगलवार को संभावित बाढ़ पूर्व तैयारी, शहर में जलजमाव, जल-जीवन-हरियाली, पथ निर्माण विभाग के कार्यों आदि की विस्तृत समीक्षा की गयी।बैठक में नितिन नवीन ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ़ एवं कटाव के मद्देनजर अबतक बेहतर कार्य किया गया है। आगे भी इसी तरह तत्परतापूर्वक कार्य होना चाहिए।संभावित बाढ़-कटाव से निपटने के लिए सभी तैयारियां समय पर पूरा करें।बाढ़ एवं कटाव को लेकर लापरवाही नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि टीम वर्क के साथ कार्य करने पर हर कार्य आसान हो जाता है। सभी अधिकारियों को टीम वर्क की भावना के साथ कार्य करना होगा।

उन्होंने निर्देश दिया कि जिले में अधिष्ठापित वर्षा मापक यंत्र तथा ऑटोमेटेड वर्षा मापक यंत्रों की 24×7 मॉनिटरिंग करना अनिवार्य है।पूर्व में ही मौसम का हाल जानकर जिले वासियों को सजग एवं सतर्क किया जा सके। उन्होंने निदेश दिया कि संभावित बाढ़ एवं कटाव के मद्देनजर प्रभावित होने वाले संवेदनशील स्थलों पर डिसेन्ट्रलाइज तरीके से सुरक्षात्मक सामग्री का भंडारण सुनिश्चित किया जाय ताकि विषम परिस्थिति में त्वरित गति से कारगर कार्रवाई की जा सके।

उन्होंने कहा कि बाढ़ के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग को पूरी तरह अलर्ट रहना है। जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थानों विशेषकर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में डॉक्टरों, कर्मियों की शत-प्रतिशत उपस्थिति सहित दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाय। मोबाइल मेडिकल टीम को अपडेट रखा जाय। पशु चारा सहित पशु दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाय। इस हेतु टेंडर आदि की प्रक्रिया अविलंब पूर्ण करते हुए सामग्रियों का भंडारण सुनिश्चित किया जाय।

उन्होंने कहा कि बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य सहित सड़कों के निर्माण, क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मति आदि में गुणवत्ता का पूरा पालन होना चाहिए। किसी भी स्तर पर गड़बड़ी करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई निश्चित है। उन्होंने निदेश दिया कि नहर-नदी से जुड़े कार्यपालक अभियंता आपस में समन्वय स्थापित कर बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य को अविलंब कराना सुनिश्चित करेंगे।

समीक्षा के क्रम में संजय जायसवाल ने कहा कि एसएसबी के वैसे जवान जो पूर्व में एनडीआरएफ में थे उनकी सूची तैयार कर ली जाय।आवश्कता पड़ने पर उनकी सहायता बाढ़ बचाव कार्य में ली जा सके। उन्होंने कहा कि मनरेगा योजना के माध्यम से नहर, नदी से सिल्ट निकालने का कार्य किया जा सकता है। सतीश चन्द्र दुबे द्वारा बताया गया कि करताहा नदी का गाइड बांध डैमेज हो गया है। फसलों को नुकसान हुआ है। इससे दस गांवों के लोग प्रभावित हैं। सिंचाई विभाग द्वारा पूर्व में कार्य कराया गया है लेकिन इसका स्थायी समाधान किया जाना आवश्यक है। साथ ही पंडई नदी से तुमकड़िया गांव को भी बचाने की आवश्यकता है।सांसद सुनील कुमार ने कहा कि भवानीपुर मौजा में जलनिकासी की व्यवस्था अत्यंत ही आवश्यक है। जलनिकासी की व्यवस्था समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण हजारों एकड़ भूमि प्रभावित है। बाढ़ सुरक्षात्मक कार्यों में गुणवता का पूरा पालन सुनिश्चित किया जाय।

उपमुख्यमंत्री रेणु देवी ने कहा कि संभावित बाढ़ से निपटने के लिए सभी तैयारी पूर्व में ही कर ली जाय। जो भी संवेदनशील तटबंध है वहां सुरक्षात्मक कार्य बरसात के पूर्व कर लिया जाय। उन्होंने कहा कि 62 आरडी पुल की साफ-सफाई अविलंब करायी जाय। पर्यटन मंत्री नारायण प्रसाद ने कहा कि जमुनिया पंचायत में जल जमाव होता है। कच्चा नाला बनाकर साईफन में मिलाने से समाधान हो जायेगा।विधायक उमाकान्त सिंह ने कहा कि मनरेगा योजना का क्रियान्वयन पूर्ण पारदर्शी तरीके से कराया जाय। जल संचयन हेतु कारगर उपाय किया जाय।

इससे पहले जिलाधिकारी, पश्चिम चम्पारण, बेतिया, कुंदन कुमार द्वारा पॉवर प्रजेंटेशन के माध्यम से उपरोक्त विषयों पर जिला प्रशासन द्वारा किये गये कार्यों की विस्तृत जानकारी प्रभारी मंत्री सहित अन्य जन प्रतिनिधिगण को दी गयी।

हिन्दुस्थान समाचार/अमानुल हक

Share this story

Around The Web