श्रीलंका से झारखंड लौटे श्रमिकों ने सरकार का जताया आभार

श्रीलंका से झारखंड लौटे श्रमिकों ने सरकार का जताया आभार


गिरिडीह, 6 मई (हि.स.)। श्रीलंका में फंसे झारखंड के 19 मजदूरों की शुक्रवार को सकुशल वतन वापसी हुई। इसके लिए श्रमिकों ने सरकार का आभार व्यक्त किया है।

बताया गया कि सभी 19 मजदूर श्रीलंका की राजधानी कोलंबो एयरपोर्ट से शुक्रवार सुबह 3:10 बजे उडान भरने के बाद सुबह 4:40 बजे चेन्नई पहुंचे। शुक्रवार पूर्वाह्न 11:45 बजे चेन्नई से दोपहर दो बजे रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उतरकर सड़क मार्ग से अपने-अपने घर पहुंचे। घर पहुंचने पर परिजनों ने खुशी जताते हुए कहा कि ज्यादा पैसों की लालच में आकर दलालों के कहने पर श्रीलंका चले गये लेकिन वहां उन्हें कुछ हासिल नहीं हुआ।

उल्लेखनीय है कि गिरिडीह, हजारीबाग और धनबाद जिले से ताल्लुक रखने वाले 19 मजदूर पिछले फरवरी माह में वह कल्पतरू ट्रांसमिशन कंपनी में काम करने श्रीलंका गये थे। कंपनी के अधिकारियों के द्वारा उनका वेतन देने में आनाकानी की जाने लगी। परेशानी को देखते हुए सभी मजदूरों ने सामाजिक कार्यकर्ता सिकन्दर अली को पीड़ा बताई। सिकन्दर अली के प्रयास से राज्य सरकार ने पहल करते हुए सभी मजदूरों की वतन वापसी कराई।

श्रीलंका से लौटे मजदूरों में गिरिडीह जिले के बगोदर प्रखण्ड के बनपुरा निवासी वकील महतो, कारू अंसारी, अब्दुल अंसारी, अख्तर अंसारी, फिरोज आलम, छत्रधारी महतो, देवानंद महतो, सहदेव महतो, रामचंद्र कुमार, ढिबरा निवासी प्रसादी महतो, घाघरा निवासी प्रदीप महतो एवं तुलसी महतो तथा तारानारी निवासी कोलेश्वर महतो के अलावा सरिया प्रखण्ड के चिचाकी निवासी तिलक महतो एवं राजेश महतो तथा डुमरी प्रखण्ड के टिंगरा निवासी महेश महतो शामिल हैं। इनके अलावा धनबाद जिले के तोपचांची प्रखण्ड के गोमो निवासी मनोज कुमार और हजारीबाग जिले के विष्णुगढ़ प्रखण्ड के भलुवा निवासी मजदूर नागेश्वर महतो, देवेन्द्र महतो शामिल हैं।

हिन्दुस्थान समाचार / कमलनयन

Share this story

Around The Web