Dehradun Bar Dancer Murder : प्रेमी लेफ्टिनेंट कर्नल ही निकला प्रेमिका का हत्यारा, हथौड़े से दिया वारदात को अंजाम

Dehradun Bar Dancer Murder सेना के अधिकारी ने एक बार डांसर युवती की निर्ममता से हत्या कर दी. बार डांसर युवती से आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल के प्रेम संबंध थे. युवती पहले से शादीशुदा लेफ्टिनेंट कर्नल पर शादी का दबाव बना रही थी. जिसके कारण लेफ्टिनेंट कर्नल ने उसकी हत्या कर दी.
Dehradun Bar Dancer Murder : प्रेमी लेफ्टिनेंट कर्नल ही निकला प्रेमिका का हत्यारा, हथौड़े से दिया वारदात को अंजाम 

देहरादून, 11 सितम्बर , 2023 : उत्तराखंड में एक बार फिर से सनसनीखेज हत्या का मामला सामने आया है. राजधानी देहरादून में सेना के अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल ने युवती की हत्या कर दी. बताया जा रहा है कि युवती देहरादून में बार डांसर थी.

लेफ्टिनेंट कर्नल से युवती के प्रेम संबंध थे. जिसके कारण युवती लेफ्टिनेंट कर्नल से पत्नी का दर्जा मांग रही थी. जिस पर लेफ्टिनेंट कर्नल को ऐतराज हुआ. जिसके कारण लेफ्टिनेंट कर्नल ने बार डांसर युवती की हत्या कर दी.

वहीं, राजधानी देहरादून में हुए इस सनसनीखेज मर्डर से हड़कंप मचा हुआ है.थाना रायपुर क्षेत्र के अंतर्गत रविवार को एक युवती का शव मिला. जिसकी शिनाख्त रायपुर पुलिस ने की. युवती की निर्मम हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल को भी गिरफ्तार किया है.

आरोपी वर्तमान में क्लेमेनटाउन में तैनात है. पुलिस ने घटना में इस्तेमाल किया गया हथोड़ा, कार व घटना से सम्बन्धित अन्य सामग्री को बरामद किया है. पुलिस ने बताया प्रेम प्रसंग में पत्नी का दर्जा दिये जाने के दबाव में युवती की हत्या की साजिश रची गई.

खुलासे के लिए चार टीमों की गठन

 बता दें 10 सितंबर को ग्राम प्रधान सोड़ा सरौली प्रवेश कुमेड़ी ने पुलिस को सूचना दी थी की सिरवाल गढ़ में एक युवती का शव संदिग्ध अवस्था में पड़ा है. इस सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर घटनास्थल का निरीक्षण किया. युवती के माथे और सिर पर गम्भीर चोटें पाई गई. पास ही में एक टॉयलेट क्लीनर की बोतल पड़ी हुई मिली.

आस-पास कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं था. जिसके बाद पुलिस ने शव की शिनाख्त के लिए मीडिया और सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया. साथ ही चौकी प्रभारी मालदेवता की तहरीर पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया. आरोपी की गिरफ्तारी के लिए थाना रायपुर के नेतृत्व में चार टीमों का गठन किया गया.

ड्रेस के टैग से मिला सुराग

गठित पुलिस टीम में से प्रथम टीम ने घटनास्थल के आस-पास रहने वाले व्यक्तियों से पूछताछ की गयी. दूसकी टीम ने घटनास्थल को आने व जाने वाले मार्गों पर लगे सीसीटीवी कैमरों को चेक किया. तीसरी टीम ने युवती की ड्रेस के टैग से जानकारी जुटाई. इसमें पुलिस को सफलता मिली. इसके लिए पुलिस जाखन और किशननगर चौक के जुडियो शोरूम पहुंची. जहां शिनाख्त के प्रयास किये गये.

पुलिस टीम शोरूम जाखन और किशननगर में पूछताछ की तो पता चला कि दोनों शोरूम से आर्टिकल की 8 ड्रेस खरीदी गई हैं. जिनके सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी. घटनास्थल से लगभग 300 मीटर की दूरी पर ग्रामीण का आवास होना पाये जाने पर स्पष्ट हुआ कि घटना रात में हुई है.

घटनास्थल के आस-पास के लोगों से पूछताछ करने पर जानकारी मिली की रात में अंतिम बार 11 बजे लगभग ग्रामीण की गाड़ी अंदर आयी थी. तब तक कोई घटना यहां नहीं हुई.240 वाहनों के ढूंढे गये पते, 18 निकले संदिग्ध.

आखिर गिरफ्त में आया आरोपी

 पुलिस टीम ने रात 11 बजे से सुबह 4 बजे तक महाराणा प्रताप चौक से थानो की ओर जाने वाले और थानो चौक से महाराणा प्रताप चौक की ओर आने वाले लगभग 240 वाहनों को चेक किया. जिसमें 18 वाहनों के समय में संदिग्धता पायी गयी.

18 चौपहिया वाहनों के नम्बर व वाहन स्वामियों के पते प्राप्त किये गये. उनके पते चेक किये गये.पतों को चेक करते हुए वाहन स्वामी रामेन्दू उपाध्याय निवासी प्रेमनगर पंडितवाड़ी जनपद देहरादून के नाम सामने आया. जिसकी जानकारी पता करने पर घटना के दौरान वाहन स्वामी का मोबाइल फोन स्विच ऑफ होना पाया गया.

घटना के दौरान महाराणा प्रताप चौक से थानो चौक तक पहुंचने में लिये गये समय में लगभग 42 मिनट के अतिरिक्त समय का होना पाया गया. जिस पर पुलिस टीम ने वाहन स्वामी रामेन्दू उपाध्याय को उसके घर प्रेमनगर पण्डितवाड़ी के पास से हिरासत में लिया. जिसके बाद उससे पूछताछ की गई. पूछताछ में रामेन्दू उपाध्याय ने हत्या की बात कबूली.

उसमें मोबाइल में मृतिका के साथ रामेन्दू उपाध्याय की फोटो होना, मृतिका का मोबाइल नम्बर भी था. रामेन्दू उपाध्याय ने 3 सितंबर को जूडियो के शोरूम से मृतिका को ड्रेस दिलाई थी.

पुलिस ने रामेन्दू उपाध्याय की निशानदेही पर क्लेमनटाउन से घटना में इस्तेमाल कार, मृतिका की आईडी, मृतिका के कपड़े, हथोड़ा भी बरामद किया. मृतिका की शिनाख्त श्रेया उर्फ सुमित्रा चौक चिसापानी जिला तनहु नेपाल के रूप में हुई.

लेफ्टिनेंट कर्नल की बार डांसर से कैसे हुई मुलाकात

आरोपी 42 वर्षीय रामेन्दू उपाध्याय निवासी प्रेमनगर पंडितवाड़ी आर्मी में क्लेमेंटाउन देहरादून में लेफ्टिनेंट कर्नल के पद पर तैनात है. आरोपी की पोस्टिंग कुछ समय पहले सिलिगुड़ी पश्चिम बंगाल से देहरादून में हुयी. साल 2010 में डिपार्टमेंटल कमीशन के रूप में लेफ्टिनेंट बन गया था.

आरोपी का घर पंडितवाड़ी में है. साल 2020 जनवरी में मुलाकात नेपाली मूल की एक लड़की श्रेया शर्मा र्से ZIZZI डांस बार सिटी सेंटर मॉल सिलीगुड़ी पंश्चिम बंगाल में हुई थी,जो कि डांस बार में एक डांसर थी. पहले मुलाकात श्रेया से दोस्ती के नाते हुई.

उसके बाद दोनों रिलेशन में आ गये. दोनों सिलीगुड़ी में पति-पत्नी की तरह रहते थे. आरोपी श्रेया के सारे खर्चे उठाता था. जब आरोपी की पोस्टिंग देहरादून जिले में हुई तो श्रेया को भी वह अपने साथ देहरादून ले आया. जिसकी जानकारी उसकी पत्नी को हो गई.

इसके बाद उसने श्रेया को कुछ दिन होटल में रखने के बाद वापस सिलीगुड़ी भेज दिया. जिसे कुछ दिन बाद दोबारा देहरादून बुला लिया. कुछ दिन होटल में रखने के बाद उसने क्लेमनटाउन में एक फ्लैट किराये पर लिया. जहां श्रेया रह रही थी.

दोनों के बीच में क्यों हुआ विवाद

एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने बताया श्रेया लगातार रामेन्दू से पत्नी का दर्जा देने का दबाव बना रही थी. इसको लेकर वह गाली गलौच करने लगी. आरोपी से पीने के लिये शराब और होटल से खाना मंगाती थी. आरोपी ही खाना बनाता था.

श्रेया को खाना बनाना नहीं आता था. आरोपी रामेन्दू लगभग रोज फ्लैट में आता जाता था. आरोपी की पत्नी को भी इस बारे में पता चल गया.इस बीच श्रेया लगातार रामेन्दू से दुर्व्यवहार करती रही. वह बार बार शादी करने की जिद करती रही. इस बात को लेकर दोनों में झगड़ा होता गया.

पिछले कुछ दिनों रामेन्दू की वाइफ भी फ्लैट पर आ गई. उसकी भी श्रेया से लड़ाई हुई. जिसके बाद रामेन्दू खुद को फंसा महसूस करने लगा. जिसके बाद उसने श्रेया को जान से मारने की योजना बनाई.

लेफ्टिनेंट कर्नल ने किस तरह रची हत्या की साजिश

9 सितंबर को आरोपी, श्रेया बीयर पिलाने के लिए राजपुर रोड स्थित एक क्लब ले गया. जहां रात को दोनों ने शराब पी. रामेन्दू ने श्रेया को ज्यादा शराब पिलाई. इसके बाद वह श्रेया को लॉन्ग ड्राइव के बहाने गाड़ी में ले आया. इसके बाद गाड़ी में उसे और बीयर पिलाई. इसके बाद रात आईएसबीटी, घंटाघर, बल्लूपुर, डोईवाला फिर डोईवाला से वापस होते हुए महाराणा प्रताप चौक से थानो रोड की तरफ निकले.

गाड़ी थानो रोड पर सोड़ा सरोली से एक रास्ता बांये की ओर जाता है, वहां पर जंगल जाने वाले रास्ते पर उसने गाड़ी लगा ली.पहले से ही श्रेया को जान से मारने की योजना थी तो गाड़ी में एक हथौड़ा सीट के पीछे रख लिया था. एक टॉयलेट क्लीनर गाड़ी में पहले से रखा थ.

श्रेया अत्यधिक शराब के नशे में गाड़ी में शारीरिक सम्बन्ध बनाने को कह रही थी. इसी बीच रामेन्दू ने कार की पिछली सीट में रखे हथौड़े से श्रेया के सिर पर ताबड़तोड़ प्रहार किया. वह नशे में थी जिसके कारण वह डिफेंस नहीं कर पाई.

जिसके बाद आरोपी गाड़ी को थोड़ा और आगे ले गया.जहां रास्ता खत्म हो गया वहीं से उसने गाड़ी बैक की. उसके बाद इसने मेन रोड किनारे श्रेया को फेंक दिया. इतना ही नहीं गाड़ी में रखा टॉयलेट क्लीनर उसके मुंह पर डाल दिया. श्रेया के शव को ठिकाने लगाकर हथोड़ा थानो रोड पर सड़क किनारे फेंक दिया. 

Share this story