बिहार में राज्यसभा की पांच सीटों के लिए दोवार्षिक और एक सीट के लिए उपचुनाव, पर सीट एक और कई दावेदार

बिहार में राज्यसभा की पांच सीटों के लिए दोवार्षिक और एक सीट के लिए उपचुनाव, पर सीट एक और कई दावेदार

बिहार में राज्यसभा की पांच सीटों के लिए दोवार्षिक और एक सीट के लिए उपचुनाव होना है। उपचुनाव वाली सीट जदयू के महेंद्र प्रसाद के निधन से खाली हुई है इसलिए वह सीट जदयू को ही मिलेगी। बाकी पांच में से दो सीटें भाजपा को, दो राजद को और एक जदयू को मिलेगी।

इस बार राजद को एक सीट का फायदा हो रहा है। एक सीट मीसा भारती की खाली हो रही है, जिस पर फिर से उनको ही उच्च सदन भेजा जाएगा। राजद की दूसरी सीट पर कई दावेदार हैं। वैसे कांग्रेस भी दावेदारी कर रही है लेकिन दोनों पार्टियों के बीच तालमेल खत्म हो चुका है और इसलिए उसकी दावेदारी का कोई मतलब नहीं है।

राजद की एक सीट पर सबसे प्रबल दावेदारी हाल ही में अपनी पार्टी का राजद में विलय करने वाले दिग्गज नेता शरद यादव की है। वे राजनीतिक रूप से फिर से सक्रिय हुए हैं और पार्टी उनको उच्च सदन भेज सकती है।

पिछली बार राजद ने अपने कोटे की एक सीट से संसाधन जुटाने में सक्षम एडी सिंह को उच्च सदन भेजा था। इस बार भी ऐसे किसी कारोबारी को सीट दिए जाने की चर्चा है। यहां तक कि मुंबई के मशहूर बाबा सिद्दीकी तक को राज्यसभा भेजने की चर्चा पिछले दिनों हुई थी। लेकिन बाहर किसी आदमी को राज्यसभा देने से पहले तेजस्वी यादव दस बार सोचेंगे।

Share this story

Around The Web