NPS के बदले नियम, अब धारकों को मिलेगा और भी लाभ

पेंशन फंड अथॉरिटी राष्ट्रीय पेंशन योजना के रजिस्टर्ड निवेशकों को वार्षिक योजना को पोर्ट करने की अनुमति देने जा रही है। इसके लिए पेंशन योजना के कुछ नियमों में बदलाव किए जाएंगे।
NPS के बदले नियम, अब धारकों को मिलेगा और भी लाभ

NPS : बुढ़ापे में आने वाली समस्याओं को दूर करने के लिए हर एक व्यक्ति को पैसे की जरूरत होती है। इसी जरूरत को समझते हुए सरकार ने 2009 में राष्ट्रीय पेंशन योजना की शुरुआत की थी। इस देश के कोने कोने में शुरू किया गया था।

योजना में रजिस्ट्रेशन करवा कर नौकरीपेशी लोग थोड़ा थोड़ा निवेश कर रिटायरमेंट के बाद निवेश राशि को हर माह पेंशन के रूप में उठा सकते हैं। इससे उनकी जरूरतें भी पूरी होती है और निर्भरता भी खत्म होती है।

समय-समय पर इस पेंशन स्कीम में बदलाव होते रहते हैं इन बदलावों से निवेशकों को काफी लाभ होता है। अब हाल ही में इसमें नए नियमों को लाने की बात की जा रही है। इसके लिए Insurance Regulatory and Development Authority of India से बात की जा रही है।

पेंशन फंड अथॉरिटी राष्ट्रीय पेंशन योजना के रजिस्टर्ड निवेशकों को वार्षिक योजना को पोर्ट करने की अनुमति देने जा रही है। इसके लिए पेंशन योजना के कुछ नियमों में बदलाव किए जाएंगे।

इन नियमों के तहत अगर कोई एनपीएस का पेंशन भोगी पेंशन देने वाली बीमा कंपनी के सालाना दर से खुश नहीं है तो वह किसी अन्य बीमा कंपनी के सालाना योजना में स्विच कर सकता है।

इससे पेंशन धारकों को आर्थिक रूप से ज्यादा लाभ मिल पाएगा। पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण के चेयरमैन सुप्रितम बंधोपाध्याय ने यह जानकारी दी कि इस योजना में बदलाव किए जाने का मुख्य उद्देश्य पेंशन धारकों को अधिक लाभ देना है।

इसके लिए फिलहाल भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण और सर्विस प्रोवाइडर के बीच बात की जा रही है। फिलहाल इसे शुरुआती स्टेज में माना जा रहा है कि जल्दी लागू किया जाएगा।

भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण कुछ वर्ष पहले स्वास्थ्य बीमा के क्षेत्र में बीमा धारकों को हेल्थ इंश्योरेंस वोट करने की अनुमति दी थी। इसलिए माना जा रहा है कि राष्ट्रीय पेंशन योजना के लिए किया गया प्रस्ताव जल्द ही पास हो जाएगा और इस बदलाव से पेंशन धारकों को बहुत ही सहोलियत मिलेगी।

Share this story

Around The Web