मोदी सरकार से देश की अर्थव्यवस्था नहीं संभल रही-कांग्रेस

मोदी सरकार से देश की अर्थव्यवस्था नहीं संभल रही-कांग्रेस


रायपुर, 10 मई (हि.स.)।केंद्र सरकार के कुप्रबंधन के कारण देश की अर्थव्यवस्था तबाही की ओर जा रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि मोदी सरकार के कार्यकाल में भारतीय मुद्रा इतिहास के सबसे निचले स्तर तक गिर चुका है। मोदी सरकार देश की अर्थव्यवस्था नहीं संभाल पा रही है।

मंगलवार को जारी अपने बयान में कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि आजादी के बाद भारतीय रूपया अपने सबसे निचले पायदान पर है। आज अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत 77.50 हो गई है। 75 साल में रुपये का इतना अवमूल्यन कभी नहीं हुआ । मोदी सरकार में भारतीय रुपया आईसीयू में चला गया है। अब यह भाजपा के मार्गदर्शक मंडल की उम्र को भी क्रॉस कर गया है। मोदी सीएम होते तो सरकार पर निशाना साधते और देशद्रोही बता देते, लेकिन पीएम मोदी चुप है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि कोविड आने से पहले ही 2017 में नोटबंदी और जीएसटी के प्रभाव से देश में कैशफ्लो में 77 प्रतिशत तक कमी आ चुकी थी। उल्टी दिशा में तेजी से भाग रही अर्थव्यवस्था के लिये मोदी सरकार की पूंजीवादी, मुनाफाखोरी और गलत आर्थिक नीतियां ही जिम्मेदार है। अपने चंद पूंजीपति मित्रों को मुनाफा पहुंचाने कोल, पेट्रोलियम, खाद्य तेल जैसे आवश्यक वस्तु का देश के भीतर उत्पादन कम करके आयातित महंगे उत्पादों को खपाने का कुत्सित प्रयास मोदी सरकार कर रही है और इसी कारण लगातार भारतीय रुपया टूट रहा है। सदियों से बांग्लादेश को निर्यात किए जाने वाला चावल भी अब बंद हो गया है। कॉटन यार्न का निर्यात भी तेजी से घटा है। मोदी राज में आयात दिनों-दिन बढ़ रहा है और निर्यात कम हो रहा है जिसके चलते वैश्विक व्यापार संतुलन बिगड़ रहा है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि 2014 में जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी तब भारतीय मुद्रा 58 रुपये प्रति डॉलर के स्तर पर था। आज भारतीय मुद्रा 77.50 डॉलर के स्तर तक गिर चुका है। मोदी सरकार के 8 साल के शासनकाल में भारतीय मुद्रा लगभग 20 रुपये प्रति डॉलर गिर चुका है।

हिन्दुस्थान समाचार /केशव शर्मा

Share this story

Around The Web