IAS Officer Himanshu Gupta : पिता के साथ ठेले पर बेची चाय, बिना कोचिंग के ही तीन बार क्रैक की यूपीएससी परीक्षा

आईएएस हिमांशु गुप्ता के संघर्ष की कहानी लाखों युवाओं को प्रेरित करने वाली है. उन्होंने हर दिन 70 किलोमीटर का सफर कर स्कूली पढ़ाई पूरी की. पिता के साथ चाय बेची. कॉलेज की फीस देने के लिए कोचिंग की. आखिरकार बिना कोचिंग के ही यूपीएससी परीक्षा तीन बार क्रैक की.
IAS Officer Himanshu Gupta : पिता के साथ ठेले पर बेची चाय, बिना कोचिंग के ही तीन बार क्रैक की यूपीएससी परीक्षा 

नई दिल्ली, 20 सितम्बर, 2023 : उत्तर प्रदेश के बरेली के रहने वाले हिमांशु गुप्ता (IAS Officer Himanshu Gupta) कभी एक चाय की दुकान पर काम करते थे लेकिन उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा को पास करने और आईएएस अधिकारी बनने के लिए सभी बाधाओं को पार किया.

हिमांशु यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) में तीन बार उपस्थित हुए और बिना कोचिंग के यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2019 (UPSC Civil Service Exam) में 304वीं रैंक हासिल करने में सफल रहे. हिमांशु के पिता एक छोटे पैमाने की चाय की दुकान के मालिक थे और हिमांशु कभी अपने पिता की दुकान पर चाय परोसते थे.

हिमांशु ने चाय की दुकान पर काम करते हुए यूपीएससी परीक्षा की तैयारी की और खाली समय में अखबार पढ़ा करते थे. हिमांशु ने दिल्ली विश्वविद्यालय के हिंदू कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई पूरी की. हिमांशु के मुताबिक, वह पहली बार किसी मेट्रो शहर में गए थे. हिंदू कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद हिमांशु को एक अच्छी नौकरी मिली, लेकिन उन्होंने यूपीएससी सिविल सेवा में आने का फैसला किया.

पहले प्रयास में परीक्षा पास की, लेकिन फिर से दी परीक्षा

हिमांशु ने बाद में अपने परिवार को सपोर्ट करने के लिए एक रिसर्च स्कॉलर के रूप में एक सरकारी कॉलेज में प्रवेश लिया. हिमांशु ने अपने पहले प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा पास की लेकिन उन्हें कम रैंक मिली और इसलिए उन्होंने यूपीएससी परीक्षा में फिर से बैठने का फैसला किया.

Share this story

Around The Web